Amazon India Launches Online Academy – अमेजन फ्री में करवाएगी इंजीनियरिंग की ऑनलाइन तैयारी


– अमेजन इंडिया ने शुरू की अमेजन एकेडमी, ऐप का बीटा वर्जन लॉन्च ।
– कंटेंट अभी मुफ्त में उपलब्ध है और अगले कुछ वर्षों के लिए ऐसे ही रहेगा।
– अमेजन एकेडमी का बीटा वर्जन वेब और गूगल प्ले स्टोर पर मुफ्त में उपलब्ध होगा।

नई दिल्ली । भारत के तेजी से बढ़ते एडटेक बाजार में अब बड़ी कंपनियां भी कूद रही हैं। पिछले वर्ष भारत में एडटेक कंपनियों को करीब साढ़े 16 हजार करोड़ रुपए का निवेश मिला। यह 2019 के 4 हजार करोड़ रुपए से ४ गुना था। अमेजन इंडिया ने बुधवार को अमेजन एकेडमी Amazon academy के लॉन्च का ऐलान किया है। इससे इंजीनियरिंग कॉलेजों में दाखिले के लिए संयुक्त प्रवेश परीक्षा (जेईई) की तैयारी कर रहे छात्रों को मदद मिलेगी। कंपनी ने कहा कि इसमें छात्रों को जेईई के लिए जरूरी तैयारी ऑनलाइन कराई जाएगी। इसमें गणित, फिजिक्स और कैमिस्ट्री में खास तौर पर तैयार लर्निंग मैटेरियल, लाइव लेक्चर और विस्तृत आकलन होगा। अमेजन एकेडमी का बीटा वर्जन वेब और गूगल प्ले स्टोर पर मुफ्त में उपलब्ध होगा। कंपनी ने कहा है कि कंटेंट अभी मुफ्त में उपलब्ध है और अगले कुछ वर्षों के लिए ऐसे ही रहेगा।

मॉक टेस्ट होंगे –
अमेजन एकेडमी निर्धारित अंतराल पर लाइव ऑल इंडिया मॉक टेस्ट आयोजित करेगी। ये छात्रों को जेईई की बारीकियों को समझने में मदद करेंगे। कॉन्सेप्ट को समझते हुए और सवालों को प्रभावी ढंग से हल करने के साथ ही छात्रों को जरूरी टूल्स उपलब्ध कराने से शॉर्टकट, निमोनिक्स, टिप्स और ट्रिक्स से भी फायदा मिलेगा।

एक्सपर्ट ने तैयार किया मैटेरियल –
अमेजन एकेडमी छात्रों को जेईई की तैयारी के लिए कई चीजें उपलब्ध कराएगा। इसमें इंडस्ट्री के जानकारों द्वारा खास तौर पर तैयार किए मॉक टेस्ट, 15 हजार से ज्यादा चुने गए सवाल, प्रैक्टिस के लिए हिंट और स्टेप-बाय-स्टेप सॉल्यूशन होंगे। बयान में कहा गया है कि सभी लर्निंग मैटैरियल और एग्जाम कंटेंट को देश भर के एक्सपर्ट फैकल्टी द्वारा विकसित किया है।

भारतीय एडटेक बाजार का ये है साइज-
वित्त वर्ष 2019-20 में भारतीय एडटेक मार्केट का साइज 117 बिलियन डॉलर का रहा। इसमें कुल 36 करोड़ सीखने वाले रहे। एक रिपोर्ट के डेटा के मुताबिक स्कूल एजुकेशन पर कुल 50 बिलियन डॉलर का खर्च हुआ। इसका 66त्न प्राइमरी व बाकी हिस्सा सेकंडरी एजुकेशन पर खर्च हुआ। इसके अलावा 40 बिलियन डॉलर से ज्यादा का खर्च सप्लीमेंट्री एजुकेशन पर हुआ। इसमें कोचिंग, टेस्ट प्रिपरेशन शामिल हैं। रिपोर्ट में एजुकेशन और एडटेक मार्केट को पांच सेगमेंट में बांटा गया है।

और बढ़ेगा मार्केट-
उम्मीद है कि वित्त वर्ष 2024-25 में एजुकेशन मार्केट 2 गुना बढ़कर 225 बिलियन डॉलर का हो जाएगा। रिपोर्ट में बताया है, बी2बी एडटेक कंपनियों को 2017-2020 के बीच 3.10 करोड़ डॉलर की फंडिंग मिली।

बायजू, अनअकेडमी आगे –
2020 में 90 से ज्यादा एडटेक कंपनियों को फंडिंग मिली। इसमें 61 कंपनियों को सीड फंडिंग मिली। एक रिपोर्ट के मुताबिक बायजू ने 2.32 बिलियन डॉलर और अनअकेडमी ने 35.4 करोड़ डॉलर की फंडिंग जुटाई।





Usefull Notes in Hindi

Hindi Vyakaran

jivan parichay

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *