स्कूल-कोाचिंग हुए बंद तो अंजलि ने सेल्फ स्टडी करके हासिल किए 92% अंक


बाढ़ और मोकामा का क्षेत्र बाहुबलियों, गैंगवार और अपराध के लिए सुर्खियों रहता आया है.

बाढ़ और मोकामा का क्षेत्र बाहुबलियों, गैंगवार और अपराध के लिए सुर्खियों रहता आया है.

Bihar board matric result 2021, Bihar Board 10th Result 2021 : पटना के नजदीक बाढ़ अनुमंडल में आने वाले गांव बहादुरपुर की अंजलि ने सेल्फ स्टडी करके बिहार बोर्ड के 10वीं की परीक्षा में 92% अंक हासिल किए हैं.

पटना . कहते हैं अगर आपके अंदर कुछ कर गुजरने का जज्बा हो तो सीमित संसाधन के बावजूद लोगअपनी मंजिल पा ही लेते हैं. कुछ ऐसा ही कर दिखाया बिहार की राजधानी पटना से सटे बाढ़ अनुमंडल के बहादुरपुर गांव की बिटिया अंजलि ने. कोरोना महामारी के समय जब स्कूल-कोचिंग, सब कुछ बंद हो जाने बाद उन्होंने सेल्फ स्टडी जारी रखी थी और 10वीं की परीक्षा में उन्होंने 92% अंक हासिल किए हैं.

डीके गर्ल्स हाई स्कूल की छात्रा अंजलि ने बताया कि पिछले साल कोरोना की वजह से जब स्कूल और कोचिंग बंद हो गए थे तो वह पहले तो बहुत नर्वस हो गयी थीं. उन्हें लग रहा था कि वह बिना स्कूल और कोचिंग के कैसे बोर्ड परीक्षा दे पाएंगी. लेकिन, इस दौरान उसके बड़े भाईओं ने मोटिवेट किया और साथ ही पढ़ाई में भी मदद की. जिसके बाद उन्होंने जमकर सेल्फ स्टडी की और परीक्षा में 92 प्रतिशत अंक लेकर आईं. अंजलि ने परीक्षा की तैयारी कर रहे दूसरे छात्रों से भी सेल्फ स्टडी पर ज्यादा फोकस करने को कहा है. अंजलि ने बताया कि वे भविष्य में डॉक्टर बनना चाहती हैं. जिसके लिए आगे की पढ़ाई वह पटना आकर करेंगी.

पूरे गांव के लिए है गर्व की बात 

अंजलि के पिता एसपी सिंह पेशे से वकील हैं. उन्होंने बताया कि जब मैट्रिक की परीक्षा में बेटी के सफल होने की जानकारी मिली तो बहुत गर्व हुआ. यह उपलब्धि सिर्फ हमारे लिए नहीं बल्कि पूरे गांव के लोगों के लिए बड़ी बात है. इससे पहले इतने नंबर के साथ गांव में शायद ही किसी ने परीक्षा पास की है. उन्होंने बताया कि लॉकडाउन के दौरान जब उनकी आय प्रभावित हुई थी तो सबके साथ-साथ अंजलि को भी थोड़ी दिक्कत हुई थी लेकिन उसने कड़ी मेहनत कर अपनी पढ़ाई जारी रखी और हमें गौरवान्वित किया.बाहुबलियों के इलाके से निकल ग्रामीण प्रतिभाओं ने दिखाया जलवा

बताते चले बाढ़ और मोकामा का क्षेत्र बाहुबलियों, गैंगवार और अपराध के लिए भी सुर्खियों में रहा है. लेकिन, अब बदलते बिहार में इन इलाकों से निकलकर अपनी प्रतिभा को साबित कर यहां के छात्र-छात्राएं अपने इलाके की एक अलग पहचान बना रहे हैं, जिस पर हर किसी को गर्व है. इस बार मैट्रिक की परीक्षा के सेकेंड टॉपर पवन भी बाढ़ अनुमंडल के पंडारक के रहने वाले हैं. उनके पिता राजमिस्त्री है और उन्होंने भी कड़ी मेहनत कर पूरे राज्य में अपने परिवार का नाम रौशन किया है.

ये भी पढ़ें- 

MP Board 2021: आगे बढ़ सकती हैं एमपी बोर्ड 10वीं-12वीं की परीक्षा की तारीखें

General Knowledge: सरकारी नौकरी के लिए पढ़ें बार-बार पूछे जाने वाले जनरल नॉलेज के टॉप-10 सवाल




सभी राज्यों की बोर्ड परीक्षाओं/ प्रतियोगी परीक्षाओं, उनकी तैयारी और जॉब्स/करियर से जुड़े Job Alert, हर खबर के लिए
फॉलो करें- https://hindi.news18.com/news/career/





pardison fontaine height

mr organik net worth

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *