लालू यादव के आज ह जन्मदिन, पढ़ीं उनका से जुड़ल रोचक किस्सा


बिहार के राजनीति में लालू प्रसाद यादव आपने अलबेला अउर अनोखा व्यक्तित्व से खास जगह बनवले बाड़े. आज उनकर जन्मदिन ह. अइसे में रउआ सभे के लालू-राबड़ी के लाइफ से जुड़ल एगो अनसुना किस्सा सुनावत बानी जा, जेकरा के पढ़के रउरा इ कहला बिना ना रह सकीं कि लालू तहार कवनो जवाब नइखे.

माधुरी कुमारी

आज यानी 11 जून के लालू यादव आपन 74वां जन्मदिन मना रहल बाड़ें. देश खासकर बिहार के राजनीति में लालू प्रसाद यादव आपने अलबेला अउर अनोखा व्यक्तित्व से खास जगह बनवले बाड़े. उनके लेखा ना केहू भइल अउर शायद होखबो ना करी. लालू के जीवन में एक से बढ़के एक रोचक प्रसंग बा. मीडिया के हर प्रकल्प में लालू से चर्चा हमेशा होत रहेला. एक तरह से देखल जाउ त लालू मीडिया खातिर यूएसपी भी हवें अउर टीआरपी भी.

त आज हमनीं के बता रहल बानी लालू के जिंदगी के एगो अइसन प्रसंग जवना के पढ़ के रउरा इ कहला बिना ना रह सकेनी कि लालू तहार कवनो जवाब नइखे. ई मजेदार किस्सा लालू के राबड़ी देवी के साथे भइल शादी से संबंध राखत बा. लालू अउर राबड़ी शादी से पहिले एक दूसरा के ना देखले रहलें. दूनों लोग एक दूसरा के देखले बिना ही शादी कइले रहें. शादी में भी राबड़ी घूंघट में रहली, एहसे लालू उनका के ठीक से ना देख पवले. गवना के बाद राबड़ी जब लालू के घर अइली. त एकरा कुछ दिन के बाद लालू के मौत के झूठा खबर फैल गइल. ई सुनके राबड़ी बहुत परेशान हो गइल रही. एकर सूचना जब लालू के भइल त ऊ राबड़ी के गुप्त दर्शन देबे पहुंच गइल रहन.

लालू ई बात के खुलासा एगो टीवी शो में कइले रहन. वर्ष 2012 में जी टीवी प एगो शो ‘जीना इसी का नाम है’ में लालू प्रसाद यादव आइल रहलें, जेकर होस्ट फारूख शेख रहन. बाते-बात में लालू एह कार्यक्रम में कहले रहन कि शादी से पहिले राबड़ी अउर हम एक दूसरा के ना देखले रहनीं जा. काहें कि पहिले अइसन संस्कृति रहल कि शादी से पहिले लड़की के लड़का ना देखत रहले. लेकिन हम थोड़ा एडवांस रहनीं एहिसे आपन एगो प्रतिनिधि के राबड़ी के देखे खातिर भेजनीं. ऊ आके बतवलस कि लड़की सुंदर बाड़ी अउर परिवार पइसा वाला भी बा. अच्छा किसान बाड़े अउर पड़ोस के ही गांव के रहे वाले बाड़े. ई सब सुनके हम राबड़ी के शादी खातिर पास कर देले रहीं.लालू शो में बतवले रहन कि एकरा बाद हम दूनों के शादी भइल. शादी के बाद हमनीं के दूनों एकसाथ बइठल रहनीं. हम सिंदूर दान कर दिहले रहीं बाकी राबड़ी देवी पूरा घुंघट कइले रही. एह से हम राबड़ी देवी के ना देख पवनीं. जब हम गवना करवाके राबड़ी देवी के आपन घर ले अइनीं तब हम उनका के देख पवनीं. लेकिन बिहार में चल रहल आंदोलन के चलते हम घर से बाहर निकल गइनीं.

आंदोलन के दौरान हमनी के विधानसभा के घेराव कइले रहनीं. ई आंदोलन में हमनी के जमके पिटाई भइल रहे. एहि से चारों तरफ हल्ला हो गइल कि लालू प्रसाद मारा गइले. पुलिस लालू के गोली मार देलस. ई सूचना से राबड़ी देवी परेशान हो गइल रही. हमरा जब ई पता चलल कि राबड़ी हमार मौत के झूठा खबर से परेशान बाड़ी त हम पुलिस से नजर बचाके उनका सामने प्रकट भइल रहनीं, अउर उनका के भरोसा दिलइनी कि हम अभी जिंदा बानीं. (माधुरी कुमार पेशे से पत्रकार हैं. यह उनके निजी विचार हैं.)








pardison fontaine height

mr organik net worth

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *