मनोज तिवारी ने करप्शन का आरोप लगाने वाले AAP नेताओं को दी कानूनी कार्रवाई की चेतावनी


बीजेपी सांसद मनोज तिवारी ने भ्रष्टाचार का आरोप लगाने के मामले में आप के नेताओं के खिलाफ लीगल एक्शल लेने की बात कही है (फाइल फोटो)

बीजेपी सांसद मनोज तिवारी ने भ्रष्टाचार का आरोप लगाने के मामले में आप के नेताओं के खिलाफ लीगल एक्शल लेने की बात कही है (फाइल फोटो)

बीजेपी सांसद ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर अपनी पार्टी के जरिये ‘झूठ’ फैलाने का आरोप लगाया है. उन्होंने कहा, ‘केजरीवाल इस बात से नाराज थे कि मैंने छठ पूजा पर प्रतिबंध को लेकर उनका पर्दाफाश कर दिया. इसलिए वो झूठ फैलाने के लिए अपने विधायक का इस्तेमाल कर रहे हैं. या तो वो आरोप साबित करें या फिर कानूनी कार्रवाई के लिए उन्हें तैयार रहना चाहिए’


  • News18Hindi

  • Last Updated:
    November 21, 2020, 10:37 PM IST

नई दिल्ली. बीजेपी सांसद मनोज तिवारी (Manoj Tiwari) ने भ्रष्टाचार (Corruption) के आरोपों को लेकर आम आदमी पार्टी (AAP) के नेताओं के खिलाफ कानूनी कार्रवाई (Legal Action) की चेतावनी दी है. दरअसल शुक्रवार को दिल्ली में सत्ताधारी दल ने उन पर पूर्वी दिल्ली नगर निगम (EDMC) के लिए ई-कार्ट की खरीद में भ्रष्टाचार का आरोप लगाया था. विधायक और आप के वरिष्ठ नेता सौरभ भारद्वाज (Saurabh Bhardwaj) ने आरोप लगाया कि मनोज तिवारी और पूर्वी दिल्ली संसदीय सीट से पूर्व सांसद महेश गिरि ने अपनी सांसद निधि से ईडीएमसी के लिए दो साल पहले तीन गुना ज्यादा कीमत देकर 200 ई-कार्ट खरीदी थीं.

उत्तर-पूर्वी दिल्ली लोकसभा सीट का प्रतिनिधित्व करने वाले मनोज तिवारी ने शनिवार को दिल्ली के मुख्यमंत्री और आप के संयोजक अरविंद केजरीवाल पर अपनी पार्टी के जरिये ‘झूठ’ फैलाने का आरोप लगाया है. उन्होंने कहा, ‘केजरीवाल इस बात से नाराज थे कि मैंने छठ पूजा पर प्रतिबंध को लेकर उनका पर्दाफाश कर दिया. इसलिए वो झूठ फैलाने के लिए अपने विधायक का इस्तेमाल कर रहे हैं. या तो वो आरोप साबित करें या फिर कानूनी कार्रवाई के लिए उन्हें तैयार रहना चाहिए.’

दरअसल सौरभ भारद्वाज ने मनोज तिवारी और महेश गिरि को चुनौती दी थी कि वो यह बताएं कि उन्होंने क्यों ज्यादा कीमत पर वाहनों की खरीद की और इस लेन-देन से किसको आर्थिक लाभ हुआ.

आम आदमी पार्टी ने चार करोड़ के भ्रष्टाचार का आरोप लगते हुए कहा था, ‘ईस्ट एमसीडी दिल्ली का सबसे गंदा इलाका है. यह दिखाता है कि एमसीडी का सिस्टम कितना खराब है. एमसीडी में कुछ भी ठीक से नहीं चल रहा है. 200 ई-कार्ट की खरीदारी की गई थी लेकिन एक का भी इस्तेमाल पूर्वी दिल्ली में नहीं होता है. हमने यह बात वार्ड कि मीटिंग में भी रखी लेकिन कोई नहीं सुनता.’ (भाषा से इनपुट)



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *