बिहार की सड़कों पर जल्द फर्राटा भरेंगी लग्जरी इलेक्ट्रिक बसें, सामान्य बसों से कम होगा किराया!


यह आधुनिक इलेक्ट्रिक बसें एक घंटे में रिचार्ज हो जाएंगी, और फुल रिचार्ज होने पर यह 250 किलोमीटर तक का सफर तय करेंगी

यह आधुनिक इलेक्ट्रिक बसें एक घंटे में रिचार्ज हो जाएंगी, और फुल रिचार्ज होने पर यह 250 किलोमीटर तक का सफर तय करेंगी

बिहार राज्य पथ परिवहन निगम (BSRTC) ने आठ इलेक्ट्रिक बसों की खरीदारी की है. इन इलेक्ट्रिक बसों (Electric Bus) की खासियत है कि यह एक घंटा में रिचार्ज हो जाएंगी और बिना रूकावट के ढाई सौ किलोमीटर तक का सफर तय कर सकेंगी. यह सभी बसें परिवहन विभाग के पटना से सटे फुलवारीशरीफ डिपो में लगी है


  • News18Hindi

  • Last Updated:
    February 23, 2021, 11:44 PM IST

पटना. बिहार (Bihar) की सड़कों पर जल्दी ही इलेक्ट्रिक से चलनेवाली बसें दौड़ेंगी. पटनावासियों को लग्जरी इलेक्ट्रिक बसों (Electric Buses) की सहूलियत देने के लिए तैयारी पूरी हो चुकी है. जल्द ही इसकी शुरुआत होगी, इसके लिए आठ बसें पटना (Patna) के फुलवारीशरीफ पहुंच चुकी हैं. इन आधुनिक इलेक्ट्रिक बसों के बारे में बताया जा रहा है कि यह एक घंटे में रिचार्ज होंगी, और फुल रिचार्ज होने पर यह 250 किलोमीटर तक का सफर तय करेंगी. मिली जानकारी के मुताबिक बिहार राज्य पथ परिवहन निगम (BSRTC) ने आठ इलेक्ट्रिक बसों की खरीदारी की है. इन इलेक्ट्रिक बसों की खासियत है कि यह एक घंटा में रिचार्ज हो जाएंगी और बिना रूकावट के ढाई सौ किलोमीटर तक का सफर तय कर सकेंगी.

फिलहाल इलेक्ट्रिक बसों को राजधानी पटना से राजगीर होते हुए बिहारशरीफ और पटना से हाजीपुर होते हुए मुजफ्फरपुर तक चलाया जाएगा. अगर यह सफल रहा तो बाकी जिलों को भी इलेक्ट्रिक बस प्रोजेक्ट से जोड़ा जाएगा. इन बसों का किराया सामान्य बसों से कम होगा.

हाजीपुर और पटना के बीच CNG बसों को भी चलाने की तैयारी

इलेक्ट्रिक बसों के परिचालन के बाद हाजीपुर और पटना के बीच सीएनजी बसें चलाने की भी तैयारी है. शुरुआत में सीएनजी बसों का परिचालन जेपी सेतु से होते हुए हाजीपुर से पटना तक की जाएगी. बिहार राज्य पथ परिवहन निगम ही इन बसों की खरीदारी कर रहा है. पटना में चलने वाली इलेक्ट्रिक बसों की संख्या 21 होगी. वहीं मुजफ्फरपुर और बिहारशरीफ में दो-दो बसों का परिचालन होगा. पटना पहुंच चुकीं आठ बसों का रजिस्ट्रेशन और परमिट की प्रक्रिया पूरी हो चुकी है. यह सभी बसें परिवहन विभाग के फुलवारीशरीफ डिपो में लगी है. बाकी बसें राजस्थान के अलवर से मार्च के दूसरे सप्ताह तक यहां आने की संभावना है.फुलवारीशरीफ डिपो में बसों को चार्ज करने के लिए प्लेटफॉर्म तैयार 

फुलवारीशरीफ डिपो में एक साथ आठ इलेक्ट्रिक बसों को चार्ज करने के लिए आधा एकड़ जमीन पर प्लेटफॉर्म तैयार किया गया है. एक घंटे के अंदर बस फुल चार्ज हो जाएगी और इससे लगभग 250 किलोमीटर तक चलेगी. उम्मीद है कि मार्च के पहले सप्ताह में इलेक्ट्रिक बसों का परिचालन शुरू कर दिया जाएगा. इन बसों में सीट से लेकर लुक तक सब लग्जरी बस जैसा है.

डीजल बसों की तुलना में इलेक्ट्रिक बसें ज्यादा अरामदायक हैं. इनमें वातानुकूलित, जीपीएस सिस्टम, सीसीटीवी कैमरा, ऑटोमेटिक ट्रांसमिशन, आईटीएस डिस्प्ले वैरियेबल मैसेज डिस्प्ले, आपातकालीन बटन, इमरजेंसी हैमर, हाइड्रोलिक पावर स्टीयरिंग जैसी तमाम आधुनिक सुविधाएं दी गई हैं. इलेक्ट्रिक बसों में 25 सीट पैसेंजर के लिए है. इसमें दिव्यांगों के लिए व्हील चेयर खड़ी करने के लिए भी जगह दी गई है. साथ ही उनके लिए हाइड्रोलिक रैंप की भी सुविधा है.







Latest Marathi News

Pune News Live Today

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *