कानूनी अड़चनें पार कर रिलीज हुई प्रियंका चोपड़ा की ‘द वाइट टाइगर’, दिल्ली HC से मंजूरी


दिल्ली हाई कोर्ट ने एक्ट्रेस प्रियंका चोपड़ा की फिल्म ‘The White Tiger’ को नेटफ्लिक्स पर रिलीज करने से रोकने की याचिका को खारिज कर दिया है। इसके साथ ही मूवी बिना किसी रुकावट के ओटीटी प्लेटफॉर्म पर रिलीज हो गई है। मूवी रिलीज होने के कुछ घंटे पहले ही स्टे वाली याचिका को हाई कोर्ट ने खारिज कर दिया। यह फिल्म बुकर प्राइज जीतने वाले अरविंद अडिगा के उपन्यास द वाइट टाइगर पर आधारित है। मूवी में प्रियंका चोपड़ा के अलावा राजकुमार राव और आदर्श गौरव भी केंद्रीय भूमिका में हैं। दरअसल यह अर्जी अमेरिकी फिल्म मेकर जॉन एन हार्ट जूनियर ने दाखिल की थी। जस्टिस सी. हरिशंकर की अदालत में जॉन ने दावा किया था कि उन्होंने अडिगा से फिल्म निर्माण का कॉपीराइट मार्च 2009 में लिया था। 

याचिका पर सुनवाई करते हुए कोर्ट ने कहा कि जॉन हार्ट इस फिल्म के निर्माण को लेकर बिलकुल भी अनजान नहीं थे। बीते करीब डेढ़ साल से फिल्म पर काम चल रहा था, लेकिन वह ऐन मौके पर मूवी के रिलीज होने से पहले कोर्ट का रुख कर रहे हैं। यही नहीं कोर्ट ने याचिकाकर्ता को प्रोड्यूसर और मेकर्स के साथ साइन किए गए दस्तावेजों को छिपाने को लेकर फटकार भी लगाई। कोर्ट ने कहा कि इस तरह से ऐन वक्त पर मूवी की रिलीज को टालना सही नहीं होगा। फिल्म निर्माताओं से लेकर एक्टर्स तक पर इसका बुरा असर पड़ेगा। इसकी वजह यह है कि इस फिल्म में बड़े पैमाने पर निवेश हुआ है।

याचिका दाखिल करने में देरी को लेकर कोर्ट ने कहा कि आप यह बहाना नहीं कर सकते कि कोरोना के चलते अदालत पहुंचने में देरी हुई। आप आखिरी घंटों में आए हैं और आपको इस आधार पर राहत नहीं दी जा सकती। हार्ट और उनकी सहयोगी सोनिया मुदभटकल की ओर से दाखिल याचिका में कहा गया था कि फिल्म निर्माताओं ने उनके अधिकारों का हनन किया है। बड़ी रकम देकर उन्होंने अडिगा से फिल्म निर्माण का कॉपीराइट 2009 में ही खरीद लिया था। जॉन और सोनिया का पक्ष रखते हुए वकील कपिल संखा ने कहा कि उनके क्लाइंट अमेरिका में थे और उन्हें इस बारे में जानकारी नहीं थी कि इस तरह की कोई फिल्म भारत में बन रही है। इसके अलावा उन्हें यह लग रहा था कि कोरोना के चलते मूवी पर आगे काम नहीं हो पाएगा।

इस पर जवाब देते हुए सीनियर एडवोकेट संदीप सेठी ने कहा कि जॉन और सोनिया की ओर से आपत्ति जताते हुए मेकर्स को अक्टूबर 2019 में एक लीगल नोटिस भेजा गया था। इस पर फिल्ममेकर्स ने कुछ ही दिनों के अंदर जवाब दिया था। लेकिन बाद में उसका काउंटर नहीं गया और इस तरह से आखिरी वक्त में कोर्ट का रुख किया गया है।


Latest Marathi News

Latest TV Serial Cast

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *